Menu
A+ A A-

समय पर सोने के लिये चाहिये रिमोट कंट्रोल के साथ सेल्फ्कन्ट्रोल

english portuguese

एन आर्बर- क्या आपने रात को टीवी देखने के लिए सूची बनाई है? तो संभावना है कि आप समय पर सो रहे हैं।

मिशिगन यूनिवर्सिटी अौर बेल्जियम के लोवेन स्कूल फार मास कम्युनिकेशन रिसर्च के शोधकर्ताओं के एक नए अध्ययन के अनुसार आभ्यासिक टीवी दर्शक निर्धारित समय पर टीवी देखना शुरू करते हैं और समाप्त करते हैं जिससे उनके सोने के समय में चेन्ज नही होता है।

इसका पर्याप्त सबूत है कि मीडिया का उपयोग— चाहे वो टीवी देखना हो या सेल फोन का उपयोग या लैपटॉप पर काम करना हो — नींद को विस्थापित करता है।पिछले शोध ने शाम को टीवी देखने पर आत्म नियंत्रण की भूमिका को नही जांचा है।

वर्तमान अध्ययन से पता चलता है कि आत्म-नियंत्रण के अभाव से व्यक्ति अल्पकालिक मीडिया के मनोरंजन को रात के नींद के ऊपर प्राथमिकता देता है।

"दूसरे शब्दों में, लोगों को मीडिया के प्रलोभन को बर्दाश्त करने के लिये सेल्फ्कन्ट्रोल चाहिये," अध्ययन के सह लेखक जन वान डेन बुक ने कहा जो यू-एम संचार विभाग में प्रोफेसर हैं।

केंद्रीय विचार यह है कि सेल्फ्कन्ट्रोल एक मांसपेशी की तरह है। जब हम जागते हैं, हमारा आत्म-नियंत्रण उच्चतम स्तर पर होता हैं, वान डेन बुक कहते हैं। सारा दिन, हम इसका उपयोग करते हैं।रात में, यह अपने न्यूनतम स्तर पर होता है, और नींद इसके भरपाई के लिए यह एक प्रमुख रास्ता है।

शोधकर्ताओं का कहना है कि इस समय बहुत से लोग टीवी देख रहे होते हैं, जिसका मतलब है कि वे एक और एपिसोड या अन्य चैनल पर स्विच करने का विरोध करेगें।

वान डेन बुक और लोवेन स्कूल फार मास कम्युनिकेशन रिसर्च की सहयोगी लीस इक्सेलमैन ने कहा कि उन्होनें सोचा भी नहीं था कि आभ्यासिक टीवी दर्शकों को निर्धारित समय पर टीवी छोडना आसान होगा।

"यह शायद समझ है," अध्ययन के प्रमुख लेखक इक्सेलमैन ने कहा। "अगय आपको रोज काफी मजबूत टीवी देखने की आदत है, तो आपका टीवी पर बेहतर नियंत्रण है और इसलिए वो सोने को पोस्ट्पोन नही करेगें।"

शोधकर्ताओं ने बेल्जियम में 821 वयस्कों को चयन किया जिसने नवंबर 2014 में अपने टीवी और सोने के व्यवहार के बारे में सवालों के जवाब दिए।

महिलाओं की तुलना में शाम के दौरान पुरुष अधिक टेलीविजन देखते हैं, अध्ययन से पता चला है।

सेल्फ्कन्ट्रोल का शाम के दौरान शाम को टीवी देखने के साथ नकारात्मक संबंध है। जितना कम सेल्फ्कन्ट्रोल प्रतिभागियों ने उतना अधिक टीवी देखा।

यह शोध कम्युनिकेशन रिसर्च में पब्लिश हुआ।

अधिक जानकारी:
अध्ययन: ट्यूब से चिपके: आत्म नियंत्रण, शाम को टीवी देखने, और सोने के समय मे विलंब के बीच पारस्परिक प्रभाव
जन वान डेन बुक