Menu
A+ A A-

माता-पिता की सकारात्मक प्रतिक्रिया से बच्चे गलती कबूल करने के लिये अधिक तत्पर होते हैं

english espanol portuguese mandarin

एक लड़का अपने पिता (शेयर छवि) के लिए अपने पाप कबूल की।एन आर्बर- ये जानते हुये ​​कि कि वे दंडित किये जा सकते है, बड़े बच्चें छोटे बच्चें की तुलना में अधिक गलती कबूल करते हैं अगर वे माने कि यही सही है।

मिशिगन यूनिवर्सिटी के नये शोध के अनुसार सभी उम्र के बच्चें गलती स्वीकार करने के लिये तैयार हैं - जिनके लिये उनको दंडित भी किया जा सकता हैं — अगर उन्हें लगता हैं कि माता पिता उनसे खुश होगें।

अध्ययन का लक्ष्य बच्चों के झूठ बोलने और कबूल करने के साथ जुडे भावनाओं की जांच करना था।

अध्ययन ने यह भी परीक्षण किया कि क्या यह भावनायें वास्तविक स्थितियों में बच्चों के स्वीकार करने या कवर करने की प्रवृत्तियों से जुड़े थे, यू-एम सेंटर फार ह्यूमन ग्रोथ ऐन्ड डिवेलप्मन्ट में शोध अन्वेषक क्रेग स्मिथ ने कहा।

स्मिथ और मैरीलैंड विश्वविद्यालय के सहयोगी माइकल रिजो ने 4 से 9 साल के बच्चों के एक छोटे समूह को काल्पनिक स्थितियों की श्रृंखला दी जिसमे बच्चों ने गलत काम करके झूठ बोला या कबूल किया। फिर इन बच्चों से पूछा गया कि वे क्या सोचते हैं कि उन्हें कैसा महसूस होगा?

शोध ने पाया कि 4 और 5 साल के बच्चों ने झूठ बोलने को सकारात्मक मनोभाव से जोडा और गलती स्वीकार करने को नकारात्मक भावनाओं से, स्मिथ ने कहा।

छोटे बच्चें अक्सर झूठ बोलने के साथ जुड़े लाभ पर ध्यान केंद्रित करते हैं। 7-को-9 साल के बच्चें झूठ बोलने को दोष से जोड़ते हैं और कबूल करने को सकारात्मक भावनाओं के साथ जोड़ते हैं। वे कहते हैं कि झूठ बोलना गलत हैं और सच बयान करना सही हैं।

इसका मतलब यह नहीं है कि छोटे बच्चों को अपराध का अनुभव नहीं हैं या समझते हैं कि झूठ बोलना गलत है।

अगर आप बच्चे को कबूल नहीं करवाना चाहते हैं तो "तुरंत बच्चे पर हावी हो जाना" एक निश्चित तरीका है," स्मिथ ने कहा।

"माता-पिता का अप्रोचबल होना इसमे मदद करता हैं," उन्होंने कहा।

तो, बच्चे की गलती स्वीकार करने पर माता पिता को क्या करना चाहिये?

"आप को बताना होगा कि आप गुस्सा हुये बिना पूरी बात सुनने के लिए तैयार हैं," स्मिथ ने कहा। "एक अभिभावक के रूप में, शायद आप अपने बच्चे के साथ खुश नहीं है, लेकिन अगर आप अपने बच्चे के साथ संचार का लाइन खुला रखना चाहते हैं, तो आप उन्हें दिखाये कि आप खुश हैं कि उन्होनें आपको इसके बारे में बताया हैं। "

इस खुला बोलचाल और भी अधिक महत्वपूर्ण हो जाता है जब बच्चा किशोर हो और जब शराब या मादक द्रव्यों के सेवन के बाद घर जाने के लिए सवारी चाहिये। क्या वे माता पिता में विश्वास कर इन मुद्दों पर बात करेगे या छुपाने की कोशिश करेंगे, स्मिथ ने कहा।

शोध, "बच्चों के कन्फेशन- और झूठ बोलने-संबंधित भावना अौर अपेक्षा: विकास में अंतर और अभिभावक के सूचना पर कन्फेशन व्यवहार कनेक्शन," प्रायोगिक बाल मनोविज्ञान के जर्नल में प्रकाशित हुआ है।

अधिक जानकारी

अध्ययन: myumi.ch/6wyOQ