Menu
A+ A A-

मिशिगन यूनिवर्सिटी में भारतीय छात्रों का नम्बर बढा: रिपोर्ट

english espanol portuguese

एन आर्बर-एक नये रिपोर्ट के अनुसार मिशिगन यूनिवर्सिटी में भारतीय छात्रों की संख्या में 10 प्रतिशत की वृद्धि हुई है और अमेरिका में भारतीय छात्रों की कुल संख्या में 25 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

न्यूयॉर्क स्थित गैर लाभकारी ऑर्गनिऐएशन अंतरराष्ट्रीय शिक्षा संस्थान द्वारा किये गये वार्षिक ओपन डोर्स रिपोर्ट के अनुसार, सबसे अधिक छात्र एशिया से आते हैं। साठ प्रतिशत अंतरराष्ट्रीय छात्रों में चीन, भारत, सऊदी अरब और दक्षिण कोरिया से आता है। इनमें से लगभगएक चौथाई छात्र स्टेम क्षेत्रों में पढने आते हैं।

विदेश में पढने वाले अमरीकी छात्रों में 67 प्रतिशत महिलायें है।

2014-15 में मिशिगन यूनिवर्सिटी के 2,714 छात्र 144 देशों में पढने गये।

"अंतर के साथ सामना करके छात्रों का बौद्धिक, पेशेवर और व्यक्तिगत रूप से विकास होता हैं, अौर वे जहाँ भी जाते है वे विनम्रता, सहयोग और सेवा की भावना ले जाते हैं," जेम्स होलोवे ने कहा जो वैश्विक एन्गेज्मन्ट और अंतःविषय अकादमिक मामलों के उप प्रोवोस्ट हैं।

विदेशों में अध्ययन करने वाले छात्रों के साथ सबसे पहले न्यूयॉर्क विश्वविद्यालय था। उसके बाद टेक्सास ए एंड एम विश्वविद्यालय, टेक्सास विश्वविद्यालय और दक्षिणी कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय थे।

"विदेश में पढ़ना वास्तव में एक उल्लेखनीय अनुभव हैं। इसने मुझे दोनों एकता और अंतर के बारे में सोचने के लिए प्रेरित किया है। मेरी निजी और पेशेवर नेटवर्क का दिलचस्प दिशाओं में विस्तार हुआ है, और मुझे लगता है कि मेरा क्षितिज भी बढा है, "श्रीराम मोहन ने कहा जो संचार अध्ययन में अपनी पीएचडी कर रहे है।

"हमारे फैकल्टी और स्टाफ हमारे छात्रों को विदेश जाने में बहुत मदद करते है," होलोवे ने कहा। "इतना ही नहीं वे हमारे छात्रों के साथ साथ कई राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय संगठनों में भी शामिल है जो अमेरिकी छात्रों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर संलग्न करते हैं," होलोवे ने कहा।

ओपन डोर्स 2016 की रिपोर्ट