Menu
A+ A A-

चार्ल्स कोरिया को सम्मानित करने के लिये मिशिगन यूनिवर्सिटी ने ममोरीअल लेक्चर की घोषणा की हैं

english

एन आर्बर - मिशिगन यूनिवर्सिटी के टाबमेन आर्किटेक्चर और नगर नियोजन कॉलेज ने प्रख्यात भारतीय वास्तुकार और कार्यकर्ता चार्ल्स कोरिया (B.Arch.'53) की स्मृति में चार्ल्स कोरिया अंतरराष्ट्रीय व्याख्यान फंड की घोषणा की है।

यह फंड वैश्विक वास्तुकला और सक्रियता में उभरते हुये वास्तुकार को मिशिगन यूनिवर्सिटी में एक वार्षिक लेक्चर के लिये लायेगा।

"टाबमेन कॉलेज में दुनिया भर से छात्रों के आने की लंबी परंपरा है। हम आशा करते हैं इस वार्षिक लेक्चर कैम्पस पर विविध दृष्टिकोण लायेगा और अंतरराष्ट्रीय और पूर्व छात्रों को, जो कॉलेज समुदाय का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं, प्रेरित करेगा, "रॉबर्ट फिशमेन ने कहा, जो टाबमेन कॉलेज के अंतरिम डीन और नगर और क्षेत्रीय योजना के प्रोफ़ेसर हैं।

16 जून, 2015 को उनकी मृत्यु से पहले, कोरिया ने अपने प्रारंभिक प्रशिक्षण संस्थाओं — मिशिगन यूनिवर्सिटी और मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी— को सम्मान करने की इच्छा व्यक्त की थी। कोरिया दोनों स्कूलों में पढ़े हैं अौर वहाँ पढ़ाया भी हैं।

पहला चार्ल्स एम कोरिया अंतरराष्ट्रीय लेक्चर सितंबर 2017 को दिया जायेगा अौर उसके बाद कोरिया के काम की एक प्रदर्शनी भी होगी।

कोरिया के काम का स्पेक्ट्रम — संग्रहालय, सरकारी इमारतें, कम आय वाले परिवारों के लिए अपार्टमेंट और विश्वविद्यालय — डिजाइन के क्षेत्र में उत्तमता अौर प्रतिबद्धता को दर्शाता है।

इस अभिनव काम ने कोरिया को समकालीन आर्किटेक्चर के लिये अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसित व्यक्ति के रूप में स्थापना की। कोरिया अपने कैरियर के दौरान कई सम्मान प्राप्त किये है जैसे कि आगा खान आर्किटेक्चर पुरस्कार, Præmium Imperiale, अौर मिशिगन यूनिवर्सिटी से 1980 में डॉक्टरेट की माननीय उपाधि। 1998 में उन्हें मिशिगन यूनिवर्सिटी के प्रतिनिधियों ने "मिशिगन ग्रेट" नामित किया गया और 2013 में "ब्रिटिश आर्किटेक्ट्स रॉयल इंस्टीट्यूट द्वारा भारत के सबसे बड़ी आर्किटेक्ट के रूप में सम्मानित किया गया ।

"चार्ल्स ने मिशिगन यूनिवर्सिटी में अपनी वास्तु कैरियर को शुरू किया और यह संयोग ही है कि हम उनके विरासत को बनाए रखने अौेर विस्तार।करने में मदद करे। हम चार्ल्स 'काम के काम अौर उनके उदारता से प्रेरित हैं। उनके परिवार को हमेशा मिशिगन यूनिवर्सिटी में घर मिलेगा, " फिशमेन ने कहा।