Menu
A+ A A-

अगर आप संरक्षन करे तो आपके ग्राहक भी संरक्षण से प्रभावित होगें

english

अगर आप संरक्षन करे तो आपके ग्राहक भी संरक्षण से प्रभावित होगेंएन आर्बर— आजकल होटल प्रबंधन अक्सर अनुरोध करते हैं कि तौलिए को फिर से उपयोग करे, या लाइट बेकार में न जलाये और कमरे का तापमान एक निश्चित सीमा में रखे। इन कार्यों से कंपनी पैसे बचाती हैं और यह पर्यावरण के लिए भी अच्छा हैं। लेकिन क्या ग्राहक अनुरोधों का अनुपालन करते हैं या इन अनुरोधों की उल्टी प्रतिक्रिया होती है?

मिशिगन यूनिवर्सिटी की मार्कटिंग प्रोफेसर अराधना कृष्णा का नया शोध दिखाता है कि उपभोक्ताओं के संरक्षण कार्य कंपनी से काम से प्रभावित होती हैं।

"जब संरक्षण कार्यों में उपभोक्ता की तरफ से प्रयास की आवश्यकता होती है, तब कन्सूमर पूछता हैं कि कंपनी लालची है या संरक्षण कार्य कर रहा हैं," कृष्णा ने कहा जो रॉस बिजनेस स्कूल में ड्वाइट एफ बेंटनमार्केटिंग की प्रोफेसर हैं। "अगर वे कंपनी द्वारा संरक्षन के प्रयास को नहीं देख पाते है तो इस अनुरोध की उल्टी प्रतिक्रिया हो सकती है।"

कृष्णा और उनके सहयोगियों ने — साइमन फ्रेजर विश्वविद्यालय में बीडी बिजनेस स्कूल के ब्रेंट मेकफरन अौर विज्ञान और प्रौद्योगिकी की हांगकांग विश्वविद्यालय के वेनबो वांग — एक होटल चेन और एक चीनी कंपनी का अध्ययन किया। कर्मचारियों को एक प्रशिक्षण कार्यशाला में भाग ले लेते समय एक उच्च कीमत होटल या एक कम कीमत होटल में रहने का चॉइस दिया गया।

कुछ कमरों में ग्राहकों के लिये नोट थे कि वे एयर कंडीशनिंग और उपकरणों को बेकार में न जलाये और कमरे के तापमान एक निश्चित सीमा में रखे। कुछ कमरों में पर्यावरण के अनुकूल अधिक महंगा बांस से बने टूथब्रश थाे और कुछ में सस्ते प्लास्टिक टूथब्रश।

"बांस के टूथब्रश एक संकेत है कि कंपनी संरक्षण के लिए प्रतिबद्ध है और इसके लिए अधिक खर्च करने को तैयार है," कृष्णा ने कहा।

शोधकर्त्ताअों ने उसके बाद प्रत्येक कमरे के बिजली उपयोग को मापा।

बांस वाले टूथब्रश के कमरे के ग्राहकों ने दोनों— उच्च कीमत और कम कीमत वाले होटल —में कम बिजली का इस्तेमाल किया। लेकिन यह प्लास्टिक टूथब्रश वाले कमरों के लिये सच नहीं था। इससे कम कीमत वाले होटल में ग्राहकों के बिजली का उपयोग नहीं बदला और अधिक कीमत वाले होटल में उन्होनें वास्तव में अधिक बिजली का उपयोग किया।

"यह कंपनी के संरक्षन व्यवहार और ग्राहकों के व्यवहार के बीच के स्थिरता के महत्व को दर्शाता है," उन्होनें कहा। "ग्राहक संरक्षण तब करेगें जब वे कंपनी को संरक्षण करते देखेगें।"

अध्ययन यह भी दिखाता हैं कि ग्राहकों को पर्यावरण के प्रति प्रतिबद्धता दिखाने के लिए छोटे से अतिरिक्त खर्च से है बचत भी होता है। होटल के उदाहरण में, बांस वाला टूथब्रश प्लास्टिक वाले से लगभग 12 सेंट अधिक था, लेकिन इससे कई अधिक भरपाई बिजली की बचत से हुई।

अध्ययन, "टर्निंग आफ द लाईट: उपभोक्ताओं को 'पर्यावरण प्रयास फर्म के दर्शनीय प्रयासों पर निर्भर," मार्केटिंग रिसर्च जर्नल में प्रकाशित किया जाएगा।

 

अधिक जानकारी:

अध्ययन (पीडीएफ): बत्ती मोड़: उपभोक्ताओं को 'पर्यावरण के प्रयासों फर्मों के दर्शनीय प्रयासों पर निर्भर

अराधना कृष्णा